Sun. Dec 4th, 2022
maruti suzuki plant
Spread the love

Maruti suzuki : हरियाणा के मुख्यमंत्री मानहोर लाल खट्टर मोजूद रहे व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोनीपत के खरखौदा में स्थित इंडस्ट्रियल मॉडल टाउनशिप में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मारुति-सुजुकी के तीसरे प्लांट की आधारशिला रखी. इस दौरान उप  मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भी  मौजूद रहे

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने आईएमटी खरखौदा में Maruti suzuki  के प्लांट के शिलान्यास के समय  कहा कि खरखौदा के मारुति-सुजुकी प्लांट एक ऐसा कदम है, जिसके माध्यम से 21वीं सदी का भारत ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ के सपने को साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. साथ ही हरियाणा की खुशहाली में यह नींव का पत्थर होगा.

maruti suzuki plant
maruti suzuki plat kharkoda haryana news by haryana24news

औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी), खरखौदा में मारुति-सुजुकी के प्लांट की आधारशिला रखने के साथ ही इस पर तेजी से काम शुरू हो जाएगा। कंपनी ने इस प्लांट में नवंबर 2025 तक पहली कार बनाने का लक्ष्य रखा है। वर्ष 2028 तक हर वर्ष 10 लाख यूनिट का निर्माण शुरू हो जाएगा।

इस परियोजना से हरियाणा में औद्योगिक क्रांति के अगले दौर का शुभारंभ होगा. इस प्लांट से करीब 11 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि maruti suzuki कंपनी को हरियाणा में 4 दशक पूरे हो गए हैं. आज ऑटोमोबाइल क्षेत्र में हरियाणा की जो विशेष पहचान है, उसे बनाने में इसने उल्लेखनीय योगदान किया है. उन्होंने कहा कि भारत में जापान की 1450 कंपनियों में से 28 फीसदी का निवेश हरियाणा में है

कोरोना महामारी के बावजूद कई बड़ी कंपनियों ने हरियाणा में निवेश किया और अब मारुति-सुजुकी ने अपना प्लांट लगाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने उद्योग एवं व्यापार के अनुकूल परिवेश तैयार करने के लिए अनेक कारगर कदम उठाए हैं। पिछले कुछ वर्षों में हरियाणा में 40 हजार करोड़ का निवेश आया है।

अभेद्य सुरक्षा घेरे में हुआ मारुति-सुजुकी प्लांटों का शिलान्यास
औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी) खरखौदा में 900 एकड़ भूमि पर रविवार को maruti suzuki प्लांट की आधारशिला रखने के दौरान सुरक्षा व्यवस्था अभेद्य रही। इसी दौरान अलग-अलग लेन से वीवीआईपी, अधिकारी व आम लोगों को कार्यक्रम स्थल तक जाने दिया गया।

सीएम-डिप्टी सीएम और गृह मंत्री के आगमन से कार्यक्रम में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रही। हर आने-जाने वालों पर पैनी निगाह रखी गई। करीब दो हजार पुलिसकर्मी और अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किए गए थे। बम स्क्वायड से लेकर डॉग स्क्वायड तक लगातार सर्च अभियान में जुटे रहे।

आईएमटी में सीएम के आगमन से पहले ही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था थी। दिल्ली मार्ग पर ही पुलिस ने बैरिकेड लगाकर मार्ग को तीन हिस्सों में बांट रखा था। जिनसे वीआईपी, अधिकारी व आम लोगों को अलग-अलग कार्यक्रम स्थल तक भेजा गया।

इसके लिए पुलिसकर्मियों के साथ ही maruti suzuki कंपनी के सुरक्षाकर्मी भी तैनात किए गए थे। कार्यक्रम में लोगों को मेटल डिटेक्टर से होकर जाने दिया गया। किसी को बीड़ी-सिगरेट व माचिस अंदर नहीं ले जाने दिया गया।
मारुति-सुजुकी का आगमन लाएगा खुशहाली, निवेश के लिए लगेगी कंपनियों में होड़
औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी), खरखौदा में maruti suzuki के प्लांटों के शिलान्यास से विकास को नई रफ्तार मिलेगी। अब अन्य मल्टी नेशनल कंपनियों (एमएलसी) में भी यहां प्लांट स्थापित करने की होड़ लगेगी। जल्द ही यहां दर्जनभर अन्य मल्टीनेशनल कंपनियां निवेश कर सकती हैं। कंपनियों का रुझान बढ़ने से आईएमटी का दायरा बढ़ाना पड़ सकता है।

फिलहाल 10 गांवों की करीब 3200 एकड़ जमीन में ही आईएमटी को विकसित किया जा रहा है। इसमें से 900 एकड़ भूमि maruti suzuki के दोनों प्लांटों के लिए दी जा चुकी है तो अब केवल 2300 एकड़ भूमि ही आईएमटी के पास बची है। ऐसे में अनुमान है कि आईएमटी के लिए अतिरिक्त जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

आईएमटी खरखौदा में बेहतरीन सुविधाओं के लिए एचएसआईआईडीसी की तरफ से तेजी से काम किया जा रहा है। बड़े उद्योगों को देखते हुए 60 मीटर चौड़ी 6 सड़कों का निर्माण किया जा रहा है, जिनमें से कई सड़क तैयार हो चुकी है। आईएमटी को जोन में बांटा गया है।

cm: manohar lal
kharkoda plant

सड़क नंबर-1 दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर फिरोजपुर गांव से उत्तर-दक्षिण की तरफ, सड़क नंबर-2 पिपली-सैदपुर के बीच से दिल्ली-रोड से दक्षिण की तरफ जबकि सड़क नंबर-3 पिपली केएमपी के पास से दिल्ली रोड से केएमपी के साथ-साथ बनाई गई है। यह सड़क नंबर-4, 5, 6 से जुड़कर पूर्व-पश्चिम दिशा में 90 डिग्री के कोण पर काट रही है। सड़कों का निर्माण इस तरीके से किया गया है कि भारी मालवाहकों को कोई परेशानी न हो सके।

एक दशक पहले हुआ था अधिग्रहण
आईएमटी के लिए वर्ष 2012-2013 में एचएसआईआईडीसी ने जमीन अधिग्रहण किया था। इसमें सैदपुर, पिपली, गोपालपुर, बरोणा, पहलादपुर, सोहटी, रामपुर, कुंडल, निजामपुर खुर्द सहित 10 गांवों की 3200 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया गया है। जिसका मुआवजा दिया जा चुका था।

हालांकि बाद में यह प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया। बीच में एक बार कुछ तेजी दिखाई गई थी, लेकिन बाद में फिर काम बंद कर दिया गया। अब सालभर में इसमें फिर से तेजी आई और दोगुनी गति से काम किया जा रहा है। मारुति-सुजुकी के प्लांट लगाने की मंजूरी के बाद अब काम तेज किया गया था।

युवाओं को रोजगार मिलेगा
मारुति-सुजुकी यहां 800 एकड़ में कार और 100 एकड़ में बाइक का प्लांट लगा रही है। वहीं इसके आसपास की 300 से 500 छोटी-बड़ी कंपनियां भी स्थापित हो रही हैं। इससे इस क्षेत्र में 50 हजार से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिलेगा। अन्य उद्योग भी यहां दो लाख से अधिक रोजगार देंगे।

आईएमटी में यह सुविधाएं भी मिलेंगी
-1.7 एकड़ में पब्लिक बिल्डिंग, 8 एकड़ में अस्पताल व डिस्पेंसरी, 42 एकड़ में शैक्षणिक संस्थान होंगे।
-24 एकड़ जमीन पब्लिक प्रयोग के लिए अलग से भी रखी है। इसमें पुलिस स्टेशन, फायर स्टेशन, 220 केवीए बिजली सब स्टेशन व अन्य पब्लिक प्रयोग के लिए निर्धारित हैं।

By Nishant

One thought on “Maruti Suzuki Plant:- CM मनोहर लाल खटर बोले- हरियाणा के युवाओ की मिलेंगे नोकरी के अवसर भारत जापान के सबंध बड़ेगे ।”

Comments are closed.